सोमवार, अप्रैल 23, 2018

Introduction to Garhakota ऐतिहासिक महत्व

गढाकोटा सागर जिले का एक शहर है जो मध्य भारत में मध्य प्रदेश राज्य के उत्तर पूर्वी भाग में स्थित है। यह मध्य प्रदेश के सागर जिले का एक प्रमुख शहर है।

गढाकोटा को बुन्देल के राजा, महाराज छत्रसाल के पुत्र के ह्रदयशाह के नाम पर पहले हृदय नगर कहा जाता था। गढाकोटा शहर सागर जिले का एक महत्वपूर्ण तथा ऐतिहासिक शहर है। सोनार और गधेरी नदी के संगम स्थान पर एक गढ़ (किला) स्थित है। पृथ्वी सिंह, जो ह्रदयशाह के पुत्र थे, ने इस गढ़ (किला) के निवासियों तथा आस-पास आवासीय क्षेत्रों की सुरक्षा के लिए एक दीवार का निर्माण किया। इस दीवार का नाम उस समय कोटा था और बाद में यह स्थान गढाकोटा के नाम से जाना जाने लगा।

Location and Climate of Garhakota भौगोलिक स्थिति

यह 23.77° उत्तरी अक्षांश तथा 79.15° पूर्वी देशांतर, जो मध्यम समुद्री तल से 373 मीटर (1223 फीट) की ऊंचाई पर स्थित है। गढाकोटा का तापमान अक्षांश की तुलना में काफी मध्यम दर्जे का है। औसतन न्यूनतम तथा अधिकतम मासिक तापमान जनवरी में 11° सेल्सियस और 25° सेल्सियस है, मई 25.5° सेल्सियस और 40° सेल्सियस और जुलाई में 23.3° सेल्सियस और 28.3° सेल्सियस है। मौसम मुख्यतः सुहावना तथा स्वास्थ्यवर्धक है।

Connectivity to Garhakota सम्पर्क

सड़कः गढाकोटा सागर जिला मुख्यालय के पूर्व में 45 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। सबसे यह शहर भोपाल-जबलपुर रोड से सागर दमोह को गुजरने वाली रोड पर स्थित है। यह सागर और दमोह से क्रमश: 45 तथा 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

रेलवे स्टेशनः सबसे नजदीकी रेलवे यहां स्टेशन 16 किलोमीटर दूर पठरिया में स्थित है। यह रेलवे स्टेशन केन्द्रीय रेलवे के बीना-कटनी सेक्शन पर स्थित है। यह बीना और कटनी रेलवे जंक्शन से क्रमशः 138 तथा 125 किलोमीटर की दूरी पर है।

विमानपत्तनः सबसे नजदीक का हवाई अड्डा भोपाल में है।
खोजें | हमसे संपर्क करें | उपयोग की शर्त | प्रत्याख्यान | कॉपीराइट वक्तव्य | गोपनीयता नीति | सहबद्ध नीति | अभिगम्यता वक्तव्य | © 2017 नगर पालिका गढाकोटा
अभिकल्पित एवं कार्यान्वित द्वारा नगरीय विकास एवं आवास विभाग, मध्यप्रदेश एवं सिटी मैनेजर्स एसोसिएशन मध्यप्रदेश
web counter